विज्ञापनों को हटाने के लिए कृपया सदस्यता ग्रहण करें। सदस्यता शुल्क अमरकोश में नए शब्द एवं परिभाषाएँ सम्मिलित करने तथा अन्य भाषा से सम्बन्धित सुविधाएँ जोड़ने में सहायक होगा।
पृष्ठ के पते की प्रतिलिपि बनाएँ ट्विटर पर सांझा करें व्हाट्सएप पर सांझा करें फेसबुक पर सांझा करें
गूगल प्ले पर पाएं
हिन्दी शब्दकोश से तिरस्करिणी शब्द का अर्थ तथा उदाहरण पर्यायवाची एवं विलोम शब्दों के साथ।

तिरस्करिणी   संज्ञा

१. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु

अर्थ : ऐसी रोक जिससे सामने की वस्तु दिखाई न पड़े।

उदाहरण : राम ने बाली को पेड़ की आड़ से मारा।

पर्यायवाची : अंतःपट, अंतर, अंतर्पट, अन्तःपट, अन्तर, अन्तर्पट, आड़, आढ़, ओझल, ओट

ସାମନା ବସ୍ତୁ ଦେଖା ନ ଯିବାପାଇଁ ରହିଥିବା ବନ୍ଧକ

ରାମ ବାଳୀକୁ ଗଛ ଆଢ଼ୁଆଳରୁ ମାରିଲେ
ଅନ୍ତର୍ପଟ, ଆଡ଼, ଆଢ଼ୁଆଳ
२. संज्ञा / निर्जीव / वस्तु / मानवकृति

अर्थ : आड़ करने के लिए लटकाया हुआ कपड़ा आदि।

उदाहरण : उसके दरवाजे पर एक जीर्ण पर्दा लटक रहा था।

पर्यायवाची : अपटी, अवगुंठिका, अवगुण्ठिका, जवनिका, पटल, परदा, पर्दा, हिजाब

ଆଢ଼ୁଆଳ କରିବା ନିମନ୍ତେ ଟଙ୍ଗା ହୋଇଥିବା କପଡ଼ାଆଦି

ତାଙ୍କ ଦରଜାରେ ଗୋଟିଏ ଜୀର୍ଣ୍ଣ ପର୍‌ଦା ଝୁଲୁଥିଲା
ପରଦା, ପର୍‌ଦା, ଯବନିକା

Hanging cloth used as a blind (especially for a window).

curtain, drape, drapery, mantle, pall
३. संज्ञा / निर्जीव / अमूर्त / ज्ञान

अर्थ : वह विद्या जिसके द्वारा मनुष्य अदृश्य हो सकता है।

उदाहरण : गुरुजी तिरस्करिणी भी जानते थे।

पर्यायवाची : तिरस्करिणी विद्या

ଯେଉଁ ବିଦ୍ୟାଦ୍ବାରା ମନୁଷ୍ୟ ଅଦୃଶ୍ୟ ହୋଇପାରେ

ଗୁରୁଜୀ ଗାରଡିବିଦ୍ୟା ବି ଜାଣନ୍ତି
କାଉଁରୀ ବିଦ୍ୟା, ଗାରଡିବିଦ୍ୟା
मुहावरे भाषा को सजीव एवं रोचक बनाते हैं। हिन्दी भाषा के मुहावरे यहाँ पर उपलब्ध हैं।